Wednesday, June 22, 2011

गर्भ के दिनों में ऐश्वर्या ये खाएं और वो न खाएं


गर्भ के दिनों में ऐश्वर्या ये खाएं और वो न खाएं

E-mail Print PDF
प्रकाश हिंदुस्तानी: (उम्मीद भरे) स्टोरी आइडियाज़! : तैयार हो जाइए साल भर ऐसे टीआरपी बटोरू (?) स्पेशल प्रोग्राम के लिए : हे प्रभु,  तूने बड़ी कृपा की.  अमिताभ का ट्विट क्या पढ़ा, मानो मन की मुराद मिल गयी.  बेचारा मीडिया अफवाहें फैला फैला कर थक गया था. अब मिर्च मसाले का उपयोग हो सकेगा. साल भर के कुछ स्टोरी आइडियाज़..  :
टीवी चैनल के संपादकों और रिपोर्टरों से अनुरोध है कि वे डायरी में इन्हें नोट कर लें और समय समय पर ऐसे हालात में इन आइडियाज का तुरंत इस्तेमाल कर लें...
....अभी तक क्या कर रहे थे अभिषेक...
...आखिर कैसे सफल हुए इतना गैप रखने में...
...किस हकीम की दवा से गर्भवती हुईं ऐश...
... क्या मन्नत और मनौतियों का फल है यह चहंचहांहट...
...डॉन क्यों हुआ खुश ?...
...क्या सामान्य होगा?...
...फीगर बचाने के लिए नार्मल की पक्षधर नहीं है ऐश...
...ऐश को क्या खाना चाहिए?...
...किस नर्सिंग होम में?..
...घर पर क्यों नहीं?...
...श्वेता कब नाचेगी?...
...इलाहाबाद से आयेंगे (जापे के) लड्डू?...
..अजिताभ ने बधाई क्यों नहीं दी?...
...और अमर सिंह नाचने लगे...
..सोनिया पिघलीं, दी बधाई...
...गुड्डी बनेगी दादी...
...अभिषेक ने की शूटिंग की छुट्टी...
...लम्बू ने खरीदे छोटू के कपड़े...
...ऐश का वजन (कितना) बढ़ा?...
...तैयार है जच्चा का कमरा...
...पहले भी उम्मीद थी लेकिन...
...क्या कहते हैं आम आदमी?...
...क्या बहुत देर कर दी?....
...देरी से मातृत्व के फायदे या नुकसान?....
...अगर करिश्मा से सगाई ना टूटती तो क्या होता?...
...दादा को चाहिए पोता या पोती?...
...बाबा विश्वनाथ की कृपा...
...सिद्धि विनायक का फल, हनुमानजी का आशीर्वाद..
...साथ ही देखिएगा मालिशवाली बाई का खास इंटरव्यू...
...जच्चा का डाइट चार्ट...
...ड्राइवर करेगा रहस्योदघाटन..
...माली ने खोल दिया भेद
...प्लंबर के रूप में घुसा मीडियाकर्मी
...फलां नीम हकीम का दावा ....
यह भी हो सकता है कि ऐश की बॉडी लैंग्वेज के आधार पर कोई टीवी रिपोर्टर 'सुपर जूनियर बिग बी' का इंटरव्यू ही दिखाकर माने. आखिर हमारे टीवी चैनलों में भी कई रजनीकांत जो हैं. दरअसल टीआरपी की होड़ में मूल मुद्दों से भटक गए हैं हम !!!
लेखक प्रकाश हिंदुस्तानी इंदौर के निवासी हैं. मध्य प्रदेश के वरिष्ठ और जाने-माने पत्रकार हैं. कई मीडिया हाउसों में अपनी सेवाएं दे चुके हैं. इन दिनों स्वतंत्र पत्रकारिता और स्वतंत्र लेखन कर रहे हैं. उनसे संपर्क 09893051400 या prakashhindustani@gmail.comThis e-mail address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it के जरिए किया जा सकता है.

AddThis
Comments (13)Add Comment
...
written by Arun, June 23, 2011
Jabardast. . . . . .isme se 3-4 line to india TV ne dikha bhi diye hai
...
written by जय कुमार, चक्रधरपुर, झारखण्ड , June 23, 2011
सेलेब्रिटी के घर पर बच्चा पैदा हो तो राष्ट्रीय चैनल के लिए एक ऐसी खबर है जिसे दिन रात चलाया जाता है. यहाँ तो बच्चा पैदा भी नहीं हुआ और चैनल बच्चे की नींव कैसे रखी गयी वहीँ से शुरुआत कर रहे हैं. जबकि गरीबों के घर से रोजाना भूख से हो रही नवजात और गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत पर राष्ट्रीय चैनल खामोश है. यह पत्रकारिता नहीं देश की जनता के विश्वास के साथ खिलवाड़ है....
...
written by Ronit Sharma, June 22, 2011
प्रकाशजी आपकी लेखनी को तो कोई जवाब ही नहीं है। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया पर व्यंग्य शैली में इस बेहतर प्रस्तुतिकरण के लिए धन्यवाद।
...
written by deepraj, June 22, 2011
Ji sahi kaha aapne.Rah se bhatak gaye hai hum.Lekin yah jayada chalane wala nahi hai,jaise jaise logon me jagrookta badhegi,Media bhi vastvik maslon par patrkarita karna shooru kar dega.Vastav men ye kuchh media hoses ki vaicharic kamjori hai ke vo sahi muddon ki padtal hi nahi karna chahaten hai.Unka lakshya hai jo chamkata hai use hi bhunao.Yah galat hai.
...
written by sandeep, June 22, 2011
all are aprooved..... send the story ha ha ha
...
written by arvind khare, June 22, 2011
apke ideas pr amal bhi shuru ho gaya ha. Aaj Tak ne shuruat ki ha. sabse tez ha na.
...
written by purabi, June 22, 2011
awesome!i am convinced of the fact that some guys will for sure pick up few of your one liners!!!

thank you for such innovative "ideas"
...
written by faisal khan, June 22, 2011
prakash ji apne bilkul sahi likha hai ham media walon ko masala mil gaya hai 9 mahine ke liye khabar koi dikha nahi sakte to ab 9 mahine amitabh aur aish ke talwe chatenge.aur shruwat beeti raat se ho gayi hai ,jai ho media maharthi..m faisal khan(saharanpur)
...
written by नमन, June 22, 2011
Jaihind Bhai aap to patrkarita jagat ke purane chawal ho our aap jaante ho trp kya hoti hai trp ke liye log to apni hi jeb ka paisa nikan ke dosere ke jeb mein rakh dete hain our bolte hain wah kya baat hai.
...
written by kuku, June 22, 2011
isi maze ke liye hi prakash ji likha tha...........................
...
written by aniket, June 22, 2011
Sir Jee,
Wah kya Dimagphodu Idea diya hai aapne.
...
written by pankaj, June 22, 2011
osama kay marnay kay baad reporters ko kuch chat patta nahi mil paa raha tha ... lekin ab intezar khatam hua...ab Bachan parivar ka hi sahara hai..

No comments:

Post a Comment